'ट्रैक्टरों पर सवार होकर दिल्ली जा रहे किसानों को नारसन बॉर्डर पर पुलिस ने रोका-जमकर हुई नोकझोंक और धक्का मुक्की.......''रुड़की में 28 जनवरी को होगा ज्योतिष महाकुंभ-विभिन्न प्रदेशों के 100 से अधिक ज्योतिष विद्वान करेंगे शिरकत......''भगवानपुर में हुई चोरी की घटना का खुलासा -40 लाख के सामान के साथ पांच आरोपी गिरफ्तार........''छापेमारी के दौरान ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट ने राशन की दुकान को किया सील-लम्बे समय से मिल रही थी शिकायत.......''कार और ट्रक की जबरदस्त भिड़ंत-कार के उड़े परखच्चे-चालक की मौत.....''आरोप लगाने वाले भाई है बेईमान-ढाई करोड़ की हुई हेराफेरी-चैंपियन ने सबूतों के साथ मीडिया के सामने रखा पक्ष.........'

महिला दरोगा से भिड़े पार्षद पुत्र और पार्षद-पुलिस ने हवालात में किया बन्द-धरने पर बैठे भाजपाई........

dainik roorkee January 09, 2021

दैनिक रुड़की ब्यूरो::


मंगलौर।
भाजपा नेता एवं नगर निगम में नामित पार्षद के पुत्र को पुलिस ने चेकिंग के दौरान रोका तो वह पुलिस से उलझ गया। मामला बढ़ता देख मौके पर पहुंचे पार्षद से भी पुलिस की नोकझोंक हुई बाद में पुलिस ने पिता-पुत्र को हिरासत में ले लिया मामले की जानकारी पाकर दर्जनभर से अधिक संख्या में मौके पर भाजपा कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए।


जानकारी के अनुसार नगर निगम में नामित पार्षद आशुतोष सिंह के पुत्र किसी कार्य अपनी स्कूटी पर सवार होकर बिना मास्क लगाए और बिना हेलमेट पहने मंगलौर कोतवाली के बाहर से गुजरे तो वहां पहले से मास्क और वाहनों की चेकिंग कर रही महिला दरोगा ने उन्हें रोक लिया। चेकिंग के दौरान महिला दरोगा ने उक्त युवक से कागजात मांगे तो वह कोई कागजात भी नहीं दिखा पाए। वही मामले की जानकारी पाकर युवक के पिता जो कि नगर निगम में नामित पार्षद है आशुतोष सिंह भी मौके पर पहुंचे पुलिस की मानें तो वह भी पुलिस से उलझ गए। पुलिस और नेताजी के बीच जब जमकर नोकझोंक हुई तो पुलिस ने पिता पुत्र को हिरासत में लेकर हवालात में डाल दिया। वहीं घटना की जानकारी पाकर मौके पर काफी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता कोतवाली के बाहर धरने पर बैठ गए। खबर लिखे जाने तक धरना जारी है। धरने पर बैठे कार्यकर्ताओ में भाजपा ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष प्रदीप पाल, महामंत्री अजय प्रताप सैनी, मण्डल अध्यक्ष लंढौरा विकास पाल एवं अन्य कार्यकर्ता शामिल हैं। वहीं इस सम्बंध में प्रशिक्षु आईपीएस एवं कोतवाली का प्रभार देख रहे हिमांशु वर्मा का कहना है कि पार्षद और उनके पुत्र ने चेकिंग के दौरान महिला दरोगा से अभद्रता की थी इसके अलावा मेरे से भी गलत तरीके से वार्ता की दोनों को शांति भंग की धारा में चालान कर हवालात में बन्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि लिखित में अगर माफी मांगेंगे तो ही मामला निपटेगा।

Share This