'सोशल डिस्टेंसिग का उलंघन करने वाले और मास्क न लगाने वाले 200 लोगों के काटे चालान-न माने तो होंगे मुकदमें दर्ज.......''ऐसे ही नही अरविंद सिंह की झबरेड़ा से दावेदारी-विरासत में मिली है सीख कि कैसे होता है क्षेत्र का विकास.......''आज दिन मंगलवार 20 अक्टूबर क्या कहते हैं आपकी किस्मत के सितारे जानिए राशिफल...''नवरात्रि का चौथा दिन माँ कुष्मांडा का-संकटों से मुक्ति दिलाती है माँ-ऐसे करें पूजा......''मेला प्रभारी और थानाध्यक्ष की सूझबूझ से सम्पन्न हुआ उर्स का पहला पड़ाव-स्थानीय लोगों ने जताया आभार......''रुकी नहर में पानी जमा होने पर विधायक ने सिंचाई विभाग अधिकारी से की बात-पानी निकासी और सफाई के दिये निर्देश.......'

अपनों तक पहुंचने के लिए साईकिल से हज़ारों किलोमीटर दूर निकल पड़ा युवक-रुड़की में लोगों ने रोका-अब पुलिस कर रही मदद-......

Dainik roorkee October 13, 2020

दैनिक रुड़की (योगराज पाल)::
रुड़की।
अपनों से बिछड़ने के बाद 14 वर्षीय बालक हरियाणा से बिहार के लिए साईकिल से ही रवाना हो गया। रुड़की में लोगों को कुछ शक हुआ तो उन्होंने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस अब बच्चे को उसके परिजनों तक पहुंचाने के प्रयास में जुटी है।


लॉकडाउन में तो आपने बहुत सारे लोगों को पैदल और साइकिल के जरिए हजारों किलोमीटर तक का सफर तय करते देखा। लेकिन अब अनलॉक में भी एक 14 वर्षीय बच्चे ने करीब डेढ़ हजार किलोमीटर की दूरी साइकिल से तय करने की ठानी। अपना नाम आजाद पुत्र फूल हसन निवासी ग्राम मोहम्मदपुर थाना रोसरा जिला समस्तीपुर बता रहे 14 वर्षीय किशोर ने सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस को बताया कि वह अपने चाचा इम्तियाज के साथ यमुनानगर से आया था और वहां एक कैंटीन में काम कर रहा था अचानक उसके चाचा कहीं चले गए काफी तलाश के बाद जब वह नहीं मिले तो उसने अपने घर जाने की ठानी और उसकी जेब में ज्यादा पैसे नही थे और ट्रेनें भी अभी कम ही जा रही है। ऐसे में उसने साइकिल के जरिए अपने घर तक पहुंचने का मन बनाया और करीब 6 दिन पहले यमुनानगर से बिहार की ओर साइकिल से रवाना हो गया। करीब 6 दिन से लगातार यमुनानगर हरियाणा से चलकर बिहार की तरफ जा रहा था रुड़की में स्थानीय लोगों ने पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। बच्चे को घर का कोई मोबाइल नंबर याद नहीं है और अब पबच्चे को उसके परिजनों तक पहुंचाने के प्रयास में जुटी है। कोतवाली प्रभारी राजेश साह ने बताया कि बच्चे को उसके परिजनों से मिलवाने का प्रयास किया जा रहा है।

Share This