मां कालरात्रि की पूजा करने से होता है काल का नाश::- नवीन जैन

dainik roorkee April 19, 2021

दैनिक रुड़की (राहुल सक्सेना):

:रुड़की पश्चिमी अंबर तालाब स्थित मां मन्कामेश्वरी दुर्गा मंदिर में नवरात्र के सातवें दिन महाशक्ति मां दुर्गा के सातवें स्वरूप कालरात्रि की पूजा की गई। मंदिर के मुख्य पुजारी आयुष भारद्वाज ने विधि विधान के साथ मां की पूजा अर्चना की। इस अवसर पर मंदिर के संस्थापक सुलेख चंद जैन ने परिवार सहित मां के दरबार में पहुंच कर पूजा अर्चना की। इस मौके पर एडवोकेट नवीन कुमार जैन ने कहा कि माता के सातवें नवरात्रि के दिन मां कालरात्रि की पूजा करने से काल का नाश होता है। इसी वजह से मां के इस रूप को कालरात्रि कहा जाता है। असुरों के राजा रक्तबीज का वध करने के लिए देवी दुर्गा
ने अपने तेज से इन्हें उत्पन्न किया था। इनकी पूजा शुभ फलदायी होने के कारण माता को शुभंकारी भी कहते हैं।
इस दौरान मंदिर में पहुंचे सभी भक्तों को मंदिर पुजारी ने प्रसाद वितरित किया व भजन कीर्तन भी किया गया इस दौरान श्रद्धालुओं में बिमला देवी,दीपा जैन,रेखा, पूजा जैन,यश जैन, किर्ष,कीर्ति परी,नैना,वर्णिका, प्रणव कौशिक , झिलमिल कौशिक,मिशिता जैन ,पूर्वी कौशिक, आदि मौजूद रहे

Share This