विद्यालय के प्रतिभाशाली छात्र-छात्राएं घर में रहकर समय का कर सदुपयोग.....

dainik roorkee June 10, 2021

दैनिक रूड़की (योगराज पाल):::
रूड़की।
आनन्द स्वरुप आर्य सरस्वती विद्या मन्दिर में 01जून से प्रारम्भ 20 दिवसीय आॅनलाईन समर कैंप के प्रथम सप्ताह मे छात्र-छात्राओं को विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से कला-कौशल निखारने एवं रूचि तथा प्रतिभा विकसित करने का बेहतरीन अवसर प्राप्त हो रहा है। कैंप के माध्यम से विद्यालय के प्रशिक्षित व दक्ष शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा विभिन्न विधाओं का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे। विद्यालय के प्रतिभाशाली छात्र-छात्राएं घर में रहकर ही समय के सदुपयोग के साथ-साथ स्वस्थ दिनचर्या का पालन करते हुए अपने शरीर और मन को प्रसन्न रखकर पूरे उत्साह से समर कैंपं की गतिविधियों मे उत्साहपूर्वक प्रतिभाग कर रहे है।
उप-प्रधानाचार्य मोहन सिंह मटियानी एवं उप-प्रधानाचार्य प्रशासन कलीराम भटट के कुशल दिशा निर्देशन में प्रशिक्षण मंड़ल के विद्या प्रमुख तिलक चैहान, नीरज नोटियाल, योगेश शास्त्री, अंजू गोस्वामी, पूजा शर्मा, वंदना, पूजा अग्रवाल, नारायण श्रीवास्तव, स्मृति जैन, भारती, रचना, नेहा, बबीता, निर्मला, प्रियंका, राजेश भट्ट, मुकेश, विवेक उप्पल, सोनल, प्रिया, अमित शर्मा, एवं कीर्ति प्रमुख रूप से प्रशिक्षण कार्य में योगदान कर रहे है। योग एवं आसनों के माध्यम से शरीर एवं मन को प्रसन्न तथा स्वस्थ रखने वाले विभिन्न योगासन, प्राणायाम, सूर्य नमस्कार, मयूरासन, स्वस्तिकासन, गोमुखासन, सर्वागासन, अनुलोम विलोम आदि से दिनचर्या का शुभारम्भ करने के पश्चात कुकिगं क्लासेज मे विभिन्न प्रकार के सलाद, भारतीय व्यंजन, फलो की चाट बनाने का प्रशिक्षण प्राप्त किया जा रहा है। आर्ट एंड क्राफ्ट क्लासेज मे कागज एवं पत्तियों की सहायता से नौनिहालों ने फूलों का गुलदस्ता, तितली, टेबल लैम्प, पंखे एवं फूलदान आदि बनाने का प्रशिक्षण भी प्राप्त कर रहे है। वैदिक मैथ्स की गतिविधियों में छात्र-छात्राओं को सरल सूत्रों एवं ट्रिक्स के माध्यम से गणित विषय को अत्यंत मनोरंजक एवं रूचिपूर्ण तरीके से हल करना सिखाया गया।
विद्यालय के प्रधानाचार्य अमरदीप सिंह एवं प्रबन्ध समीति के अधिकारियों ने अॅानलाईन समर कैंप मेे छात्र-छात्राओं की अत्याधिक संख्या मे सहभागिता एवं उनके कार्य प्रदर्शन की मुक्तकंठ से प्रशंसा करते हुये कहा कि छात्र-छात्रायें अपने जीवन में बेहतरीन संवाद, चरित्र, कठिन परिश्रम, सहभागिता, उचित दिनचर्या पालन और उच्च आदर्शो को अपनाकर बाल्यकाल में ही अधिक सफलता प्राप्त कर नये कीर्तिमान स्थापित कर अपना भविष्य उज्जवल बना सकते हैं। संगीत, नृत्य एवं कला का क्षेत्र छात्रों को अत्यधिक ऊर्जा देता है साथ ही साॅफ्ट स्किल (कौशल विकास) छात्रों के सम्पूर्ण व्यक्तित्व को निखारता है। समर कैंप में अभिनव, भारत, आकर्ष, दिव्याशी, देविका, मानवी, शौर्य, अवनी, रितिका, कुमुद, श्रेष्ठा, मानसी, सेजल, दिविशा, आरूष कार्तिक,काव्या, रिदम, अनिरूद् आराध्या, अभिज्ञान, अंकिता, रितिक, देवांश, गार्गी, शिवम, माही, दिव्या, तनवी, तथा श्रेयांश आदि प्रतिभागी छात्र-छात्राओं ने शानदार प्रदर्शन किया।

Share This