हमपर और हमारे परिवार पर अनावश्यक दर्ज किए गए मुकदमे-नियमों का पालन करवाना प्रशासन की जिम्मेदारी::नायब सज्जादानशीन.......

Dainik roorkee October 22, 2020

दैनिक रुड़की (इकराम अली)::
पिरान कलियर।साबिर पाक के 752 वे उर्स में मेहंदी डोरी रस्म की के दौरान कोविड 19 के नियमों का उल्लंघन करने के मामले में सज्जादा नशीन परिवार हुए मुकदमों को लेकर नायब सज्जादा नशीन शाह अली एजाज साबरी ने प्रेस वार्ता कर बताया कि उनके परिवार पर अनावश्यक मुकदमें दर्ज किए गए है।जबकि वह लगातार लोगो से सोशल डिस्टेंसिंग और नियमों का पालन करने की अपील कर रहें हैं।और नियमानुसार ही रस्म को अदा किया गया है,जितने लोगो की परमिशन प्रशासन ने दी थी उतने ही लोग उनके द्वारा रस्म में शामिल किए गए थे।

दरगाह साबिर पाक के 752 वे सालाना उर्स को लेकर प्रशासन द्वारा कोविड नियमों के अनुसार रस्मों को अदा करने और गाइडलाइन के मुताबिक उर्स सम्पन्न कराने के निर्देश जारी किए थे, उर्स की शुरुआत प्रथम रस्म मेंहदी डोरी से हो गई थी, इसी रस्म के दौरान पुलिस ने कोविड नियमों के उलंघन करने पर 180 लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। जिसको लेकर दरगाह के नायब सज्जादा नशीन शाह अली एज़ाज़ साबरी ने अपने आवास पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए बताया कि उर्स में अदा की जाने वाले तमाम रसुमात गाइडलाइन के मुताबिक अदा की जा रही हैं और मेंहदी डोरी की रस्म में भी उनके द्वारा कोविड नियमों का उलंघन नही किया गया, उनके द्वारा चुनिंदा लोगो को ही रस्म में शामिल किया गया था,लेकिन आसपास की भीड़ इकठ्ठा हो गई।इसके अलावा अगर भीड़ आती है तो उन्हें रोकने और नियमों का पालन कराने के लिए प्रशासन अपनी जिम्मेदारी निभाए।उन्होंने कहा भीड़ को रोकने का काम प्रशासन का है और वो लगातार प्रशासन का सहयोग कर रहे है। उन्होंने बताया अन्य रसुमात को लेकर प्रशासन और अधिकारियों से वार्ता कर व्यवस्थाएं सुचारू की जाएंगी।उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि स्थिति को स्पष्ट करते हुए उन्हें बताया जाए कि रसुमात में कितने लोग शामिल कर सकते हैं और अन्य लोगो को रोकने की जिम्मेदारी किसकी है,अली एज़ाज़ साबरी ने कहा वह लगातार आने वाले जायरिनों से अपील कर रहे है की कोविड नियमों को ध्यान में रखते हुए उर्स में शामिल हो माक्स और सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखे। उन्होंने बताया अन्य प्रदेशो व जनपदों में सज्जादानशीन की ओर से बैनर लगाकर आने वाले जायरिनों को जागरूक भी किया जा रहा है। इस दौरान सूफी इकराम मियां, शाह गाजी ,यावर अली ,असद साबरी आदि मौजूद रहे।

Share This