अंकिता भंडारी की हत्या के विरोध में चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति का धरना-आरोपियों को फांसी दिए जाने की मांग.......

Dainik roorkee September 26, 2022

दैनिक रुड़की (राहुल सक्सेना)::





रुड़की।
अंकिता भंडारी की जघन्य हत्या के अपराधियों को फांसी दिलाने तथा मृतक अंकिता भंडारी की आत्मा की शांति के लिये चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति ने शिव चौक अशोकनगर शिवाजी कॉलोनी फाटक पर एक दिन का उपवास एवं धरना दिया।
संरक्षक राजेंद्र सिंह रावत ने कहा की अंकिता भंडारी के हत्यारों को फास्ट ट्रैक में एक माह के अंदर फांसी दे दी जानी चाहिए तथा परिवार के एक सदस्य को नौकरी आर्थिक सहायता के रूप में एक करोड़ रुपए तथा माफियाओं के सामने गलत काम का विरोध करने तथा जान की परवाह किए बगैर घुटने न टेकने की हिम्मत दिखाने के लिए बहादुरी के रूप में शहीद का दर्जा देने तथा एक करोड़ का इनाम देने का कार्य करना चाहिए।
युवा संगठन के संस्थापक राकेश चौहान तथा पूर्व अध्यक्ष हेमंत बड़थ्वाल एवं सुदर्शन डोबरियाल और धनंजय शुक्ला ने आरोप लगाया कि पूर्व मंत्री विनोद आर्य सरकार पर दबाव बना रहा है और रिजॉर्ट को तोड़कर सबूतों को मिटाया जा रहा है उन्होंने कहा अगर दोषियों को जल्दी से फांसी नहीं होती है तो माना जाएगा सरकार ने इस जघन्य अपराध में अपराधी का साथ देकर लीपापोती करने का काम किया है जिसका जवाब सरकार आने वाले चुनाव में देगी।

महिला अध्यक्ष पार्वती रावत ने कहा कि अगर सरकार ने जल्दी से दोषियों को फांसी देने के लिए निर्णय नहीं लिया तो पूरी मातृशक्ति सड़कों पर उतर आएंगी जिसकी सारी जिम्मेदारी सरकार की होगी। उन्होंने अवैध चलने वाले सारे रिजॉर्ट को बंद करने की मांग की। उपवास में बैठने वालों में राजेंद्र सिंह रावत तथा धरने में बैठने वालों में चेयरमैन रविंद्र पनियाला प्रवीण चौधरी,जगदीश खड़ायत, हेमंत बड़थ्वाल,राकेश चौहान, सुदर्शन डोबरियाल,कुंवर सिंह डंगवाल,महेंद्र सिंह राणा, प्रदीप बुडाकोटी, नरेंद्र सिंह गुसाईं, पंकज, एच एस धोनी, धनंजय शुक्ला, सोनू, महिला अध्यक्षा पार्वती रावत,मंजू नेगी,वीरा नेगी, चंदा उपाध्याय, लिपी राय, भारती रौतेला, सरोज बड़थ्वाल, सुनीता कुमाई, चंद्रा उपाध्याय आदि लोग सम्मिलित थे।

Share This